रेकी करते समय मन को वश में कैसे रखे? / रेकी को लॉक कैसे करे ?

जब हम रेकी करते है तो उस समय हमारा मन एकाग्र नहीं रह पाता तो उसके आईये जानते है की रेकी करते समय अपने मन को वश में कैसे रखे ?

रेकी करते समय मन को वश में करना बहुत जरुरी है क्योंकि हमेशा बेचैन रहता है इसमें हमेशा कुछ न कुछ लगातार चलता रहता है। इसलिए मै कहता हूँ रेकी आपको मन से नहीं करनी आत्मा से करनी है। मन में असंख्य विचार हमेशा रहते है जिससे आपका मन भागता रहता है परन्तु जब आप आत्मा से काम करेंगे तो आप उसे वश में कर पाएंगे। मन से काम करने से होता है कि जो आपके आस-पास चल रहा होता जैसे आपने किसी से बात की आपको कुछ अच्छा खा हो या बुरा तो उससे आप का दिमाग उसी में उलझ जाता है जिससे आपका ध्यान हीलिंग में नहीं लगेगा जिससे आपको हीलिंग में फायदा नहीं होगा।

अगर आप किसी दूसरे को हीलिंग दे रहे तो उसको भी फायदा नहीं होगा। इस शरीर की पांच इन्द्रिया रथ के घोड़े की तरह है और ये मन उसका सारथि है। आपकी आत्मा उसकी रथी है जो रथ पर बैठा है जिसके अनुरूप रथ को चलना चाहिए। अथार्त रथी को ये पता होना चाहिए कि आपको किधर जाना है। अगर आत्मा को ज्ञान हो जाये कि ये एक यात्रा है और मेरी मंजिल परमात्मा को पाना है तो क्या होगा आपकी आत्मा शक्तिशाली हो जाएगी और आपका मन वश में हो जायेगा। आपको पहले अपनी इन्द्रियों को वश मे करने की आवश्यकता है। जिससे आपका मन भटकेगा नहीं। जब भी आपका मन भागेगा आप रोक पाएंगे कि मन तुझे उन विचारों में नहीं जाना है, नहीं तो मेरी यात्रा गड़बड़ हो जाएगी और मै गलत रास्ते पर पहुंच जाऊंगा। आत्मा का मुख्य काम परमात्मा से मिलना हैं तुम उसी पथ पर आगे बढ़ो, ऐसा करने से मन शांत होने लग जायेगा, विचार शांत होने लग जायेंगे और आप कोई भी काम आसानी से केंद्रित होकर कर पाएंगे।

रेकी को लॉक कैसे करे ?

(रेकी को लॉक करना बहुत जरुरी होती है कैसे होता है ? आईये जानते है )-

आप २४ पॉइंट्स पर अपनी हीलिंग करते है या सातों चक्रों पर करते है, किचन को करते है, कार को करते है, शील्ड बनाते है तो इन सभी के लिए आपको हील करना होता है। अपनी हीलिंग करते है या किसी और की करते है तो सबसे आखिरी में आपको दोनों हाथो को नमस्कार मुद्रा में रखके तीन या चार बार अपनी उँगलियों को फोल्ड करना है।

Energize your chakras with magical healing power of reiki meditation -  Times of India

अगर आप किसी दूसरे को डायरेक्ट हील कर रहे है तो क्लाइंट लेता हुआ है और आपने उसको शरीर के आगे के हिस्से में १७ बिंदुओं पर हील करना है इसके लिए आपको उसके कंधे से शुरू करके पैर तक अपने हाथों की सहायता से एंटीक्लॉक वाइस स्पाइरल बनाना है और दूसरी तरफ कंधे से लेकर पैर तक क्लॉक वायस स्पाइरल बनाएंगे और रेकी लॉक हो जाएगी। और अब उसके शरीर को उल्टा करके लिटाते है उसके बाद अपनी दो उँगलियों को V शेप में बनाएंगे और क्लाइंट के गर्दन से लेकर उसकी पूरी रीढ़ की हड्डी तक तीन बार स्ट्रोक देना है। हमारे चक्रों में एनर्जी थोड़ी असमान हो जाएगी और जब हम स्ट्रोक देंगे तो एनर्जी चक्रों में पूरी बराबर हो जाएगी और लॉक हो जाएगी। लॉक का मतलब है कि जो आपने उसके शरीर में हीलिंग के दौरान एनर्जी डाली है, तो वो एनर्जी उसके अंदर कम से कम २४ से ४८ घंटे तक रहना ही चाहिए और जब स्ट्रोक और स्पाइरल से हम लोग एनर्जी लॉक कर देंगे तो एनर्जी अंदर ही रहेगी।

"महत्वपूर्ण यह नहीं कि आप हीलर है अपितु महत्वपूर्ण यह है कि प्रैक्टिस ही आपको अच्छा हीलर बना सकती है।"

Available Here-
All Pyramids, All Angel Cards, All Reiki Cards, Photo of professor Mikau Usui, All Reiki Books, Healing Chart of Affirmation, Angel Oracle Cards, Antah Karna Chart.